PM Kisan Yojana 12th Installment Date: किसानों के लिए बड़ा अपडेट, किसानों को इस दिन मिल सकती है बड़ी खुशखबरी

553
India Post GDS Recruitment 2022: बिना परीक्षा दिए होगी 38,926 पदों पर भर्ती, फटाफट करे आवेदन, ये रहे डायरेक्ट लिंक

PM Kisan Samman Nidhi Yojana 12 Kist/Installment Payment Date: सभी प्रधान मंत्री क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि योजना के लाभार्थियों के लिए eKYC की समय सीमा 31 जुलाई 2022 तक बढ़ा दी गई है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना 12 किस्त/किस्त भुगतान तिथि: देश के अन्नदाता प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम किसान योजना) की अगली किस्त का इंतजार कर रहे हैं। 31 मई 2022 को 11वीं किस्त के तौर पर 2000 रुपये किसानों के खाते में ट्रांसफर किए गए। अब लंबे समय के बाद एक बड़ा अपडेट सामने आया है।

India Post GDS Recruitment 2022: बिना परीक्षा दिए होगी 38,926 पदों पर भर्ती, फटाफट करे आवेदन, ये रहे डायरेक्ट लिंक

पिछली बार किसानों को मिले थे 21,000 करोड़ रुपये

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 1 सितंबर 2022 को 12वीं क‍िस्‍त मिल सकती है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 31 मई 2022 को 10 करोड़ किसानों को लगभग 21,000 करोड़ रुपये का लाभ दिया था

एक साल में किसानों को कितना होता है फायदा?
मालूम हो कि इस फ्लैगशिप योजना के तहत, किसानों के बैंक अकाउंट में हर साल 6000 रुपये की राशि ट्रांसफर की जाती है। साल में तीन बार किस्तें जारी होती हैं। हर किस्त में अन्नदाताओं को 2,000 रुपये दिए जाते हैं।

हालांकि कुछ किसानों ने बताया कि उन्हें नियत तारीख के बाद भी योजना का लाभ नहीं मिला। पीएम किसान योजना की वेबसाइट के अनुसार, पीएम किसान फंड ट्रांसफर के संबंध में किसी भी समस्या से बचने के लिए लाभार्थियों को कुछ शर्तों का पालन करना होता है। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

किसानों को कब- कब होता है फायदा?
उल्लेखनीय है कि किसानों को हर साल की पहली किस्त 1 अप्रैल से जुलाई के बीच दी जाती है। दूसरी क‍िस्‍त का फयदा 1 अगस्‍त से नवंबर के बीच होता है और अन्नदाताओं को तीसरी क‍िस्‍त का पैसा द‍िसंबर से मार्च के बीच में मिलता है।

यूपी के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने ऐलान किया है कि अब से यूपी में बिना ई-केवाईसी और सोशल ऑडिट के बिना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का पैसा नहीं मिलेगा.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर अपने विभाग के 100 दिनों का रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने पेश करते हुए कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने प्रेस वार्ता की. इस दौरान उन्होंने कहा कि अब से केवल उन्हीं किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा जिन्होंने ईकेवाईसी किया है. कर दिया होता। ई-केवाईसी होने के बाद प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों का ऑनलाइन रिकॉर्ड रखना आसान हो जाएगा।

इनकम टैक्स भरने वाले किसानों से निकाले जाएंगे पैसा

सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि पात्र अपात्र लाभार्थियों की पहचान के लिए सोशल ऑडिट किया जा रहा है. शाही ने यह भी घोषणा की कि जिन किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि मृतक या आयकर दाताओं के पास गई है, उनकी जांच अभियान चलाकर की जा रही है. ऐसे किसानों से राशि की निकासी की जाएगी।

मरने वाले 33 हजार किसानों के खाते में गया पैसा

गौरतलब है कि हाल ही में रायबरेली में एक चौकाने वाला मामला सामने आया था. रिपोर्ट के मुताबिक जिन 33 हजार किसानों की मौत हुई है, उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि योजना का पैसा दिया जा रहा है. कृषि निदेशालय से इस खबर के सामने आने के बाद कृषि विभाग में हड़कंप मच गया। कृषि विभाग ने आनन-फानन में किसानों के सत्यापन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

कृषि निदेशालय की ओर से कृषि विभाग को उन सभी किसानों की सूची देकर सत्यापन करने को कहा गया, जिनके बारे में निदेशालय को पता चला था कि इन किसानों की मौत हो गई है. कृषि निदेशालय ने सैलून, लालगंज, रायबरेली, दलमऊ, ऊंचाहार, महराजगंज तहसील के किसानों की सूची का सत्यापन करने के निर्देश दिए थे. इसके अलावा, सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि उन्होंने सौ दिन में 8000 करोड़ रुपये के गन्ने के भुगतान का लक्ष्य रखा है। इसके विरूद्ध 12530 करोड़ रुपये गन्ना मूल्य का भुगतान किया जा चुका है। यह राशि कुल बकाया का 55 फीसदी है।

ईकेवाईसी अनिवार्य है

पीएम किसान वेबसाइट के अनुसार, “पीएम किसान लाभार्थियों के लिए ईकेवाईसी अनिवार्य हो गया है। किसानों को आधार आधारित ओटीपी प्रमाणीकरण के लिए किसान कॉर्नर में ईकेवाईसी पर क्लिक करना होगा और यहां मांगी गई जानकारी प्रदान करनी होगी। बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए किसानों को निकटतम जाना होगा। सीएससी।” अगर आपने अभी तक आधार को अपने पीएम किसान खाते से नहीं जोड़ा है, तो जानिए क्या है प्रक्रिया?

पीएम किसान पोर्टल पर आधार विवरण कैसे दर्ज करें

  • सबसे पहले पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.pmkisan.gov.in पर जाएं।
  • इसके बाद होम पेज पर ‘किसान कॉर्नर’ पर क्लिक करें।
  • अब ‘आधार विफलता रिकॉर्ड संपादित करें’ विकल्प चुनें।
  • आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, किसान नंबर जैसे विकल्प का चयन करें।
  • आधार नंबर पर क्लिक करें।
  • सभी आवश्यक विवरण दर्ज करें और ‘अपडेट’ पर क्लिक करें।