PM Kisan Yojana : इन लाभार्थियों को भेजा जा रहा नोटिस, पैसा नहीं लौटा तो करना पड़ सकता है कार्रवाई

432

PM Kisan Yojana Update : सरकार अवैध लाभार्थियों के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है। सरकार ने इन लोगों को नोटिस भी भेजना शुरू कर दिया है. सरकार ने ऐसे लोगों को जल्द से जल्द पैसा वापस करने का निर्देश दिया है. ऐसा नहीं करने वालों को सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहने को कहा गया है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत हर साल 6 हजार रुपये देकर करोड़ों किसानों की आर्थिक मदद की जाती है. सरकार ऐसा करके इन किसानों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने की कोशिश कर रही है। फिलहाल किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये की 11वीं किस्त 31 मई 2022 को भेजी जा चुकी है. अब 12वीं किस्त भी तीन महीने के अंतराल में किसानों को भेजी जाएगी.

अवैध लोगों ने उठाया फायदा

पीएम किसान सम्मान निधि योजना में सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया था। अधिसूचना के अनुसार कई अवैध लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है. अब सरकार ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त है। इनके खिलाफ लगातार नोटिस भेजने का काम किया जा रहा है. कई जिलों में अवैध लाभार्थियों तक नोटिस पहुंचे हैं. ऐसे लोगों को गलत तरीके से कमाए गए पीएम किसान योजना के पैसे तुरंत वापस करने को कहा जा रहा है, पैसा नहीं लौटाने पर इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है.

यह भी पढ़ें

ऐसे चेक करें लिस्ट में आपका नाम तो नहीं

आप ऑनलाइन के माध्यम से भी जांच सकते हैं कि आप पैसे वापस करना चाहते हैं या नहीं। इसके लिए आपको पहले कोने पर रिफंड ऑनलाइन का विकल्प दिखाई देगा। यहां क्लिक करने पर एक पेज खुलेगा। यहां पूछी गई सभी जानकारी भरें। इसके बाद यहां आपको अपना 12 अंकों का आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर या मोबाइल नंबर डालना होगा। फिर कैप्चा कोड दर्ज करें और ‘डेटा प्राप्त करें’ पर क्लिक करें। यदि आपको स्क्रीन पर ‘आप किसी भी धनवापसी राशि के लिए पात्र नहीं हैं’ संदेश दिखाई देता है, तो आपको पैसे वापस नहीं करने होंगे। यदि रिफंड राशि का विकल्प दिखाया गया है, तो समझ लें कि आपको किसी भी समय नोटिस आने पर पैसे वापस करने होंगे।

रज‍िस्‍ट्रेशन में राशन कार्ड की जानकारी देना जरूरी

सरकार की तरफ से क‍िए गए बदलाव के तहत क‍िसानों को पीएम क‍िसान योजना के ल‍िए रज‍िस्‍ट्रेशन कराते समय राशन कार्ड (Ration Card) की जानकारी देनी होगी. इसके अलावा राशन कार्ड की सॉफ्ट कॉपी पीएम क‍िसान पोर्टल पर अपलोड करना जरूरी है. दस्‍तावेजों का सत्‍यापन होने के बाद ही योजना का लाभ द‍िया जाएगा. पहले पर‍िवार के सदस्‍य के नाम पर खेती की रसीद होने पर रज‍िस्‍ट्रेशन कराया जा सकता था. लेक‍िन बाद में न‍ियम में बदलाव क‍िया गया, अब ज‍िसके नाम पर जमीन के दस्‍तावेज होंगे उन्‍हीं को योजना का लाभ मिलेगा.

अपात्र क‍िसानों से हो रही वसूली!

आपको बता दें सरकार की जानकारी में ऐसे कई मामले आए क‍ि एक ही पर‍िवार के दो लोग पीएम क‍िसान योजना का फायदा ले रहे हैं. इसके अलावा ऐसे भी जानकारी म‍िली की इनकम टैक्‍स फाइल करने वाले और सरकारी नौकरी करने वालों के खाते में 6000 रुपये सालाना आ रहे हैं. ऐसे लाभार्थ‍ियों के ख‍िलाफ सरकार की तरफ से कार्रवाई की जा रही है और उन्‍हें नोट‍िस भेजकर रकम वापस करने के ल‍िए कहा गया है. राज्‍य सरकार की तरफ से दी गई सूचना के आधार पर कार्रवाई की जा रही है

31 जुलाई तक कराएं ई-केवाईसी

ई-केवाईसी कराने की अंत‍िम त‍िथ‍ि को बढ़ाकर 31 मई से 31 जुलाई कर द‍िया गया है. ऐसी उम्‍मीद है क‍ि इस बार ऐसे क‍िसानों को 12वीं क‍िस्‍त का फायदा नहीं द‍िया जाएगा, ज‍िनका ई-केवाईसी पूरा नहीं हुआ है. इस बार यह भी उम्‍मीद कम ही है क‍ि सरकार ई-केवाईसी कराने की अंत‍िम त‍िथ‍ि को बढ़ाएगी. दरअसल, इसकी अंत‍िम तारीख को सरकार पहले ही दो बार बढ़ा चुकी है.

आपको बता दें सरकार ने क‍िसानों की आर्थ‍िक स्‍थ‍ित‍ि में सुधार लाने के ल‍िए पीएम क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि योजना के तहत 6000 रुपये सालाना देने की योजना शुरू की थी. इसके तहत पात्र क‍िसानों को साल में तीन बार 2-2 हजार रुपये द‍िए जाते हैं. अब तक इसकी 11 क‍िस्‍ते क‍िसानों को दी जा चुकी हैं. 12वीं क‍िस्‍त के अगस्‍त में आने की संभावना है

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में एक बड़ा अपडेट सामने आया है। दरअसल सरकार ने ई-केवाईसी की तारीख बढ़ाकर 31 जुलाई कर दी है. इस तारीख तक ई-केवाईसी नहीं कराने वाले किसान 12वीं किस्त से वंचित हो सकते हैं.