BSc Nursing New Update : बीएससी नर्सिंग के लिए पहली बार होगी प्रवेश परीक्षा , यहाँ से करे आवेदन यह रहे फॉर्म

407

यूपी के नर्सिंग कॉलेज में पहली बार बीएससी नर्सिंग की संयुक्त प्रवेश परीक्षा होगी। इसके जरिए 8000 सीटों पर छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश परीक्षा जुलाई के अंतिम सप्ताह में होगी।

प्रदेश में बन रहे सरकारी व निजी मेडिकल कॉलेजों में पैरा मेडिकल स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. इसके तहत राज्य में पहली बार बीएससी नर्सिंग की संयुक्त प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसके माध्यम से लगभग आठ हजार छात्रों को राज्य के सरकारी और निजी बीएससी नर्सिंग कॉलेजों में प्रवेश मिलेगा। इसके लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 15 जुलाई रखी गई है. छात्रों को केजीएमयू की वेबसाइट www.kgmu.org और अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी की वेबसाइट www.abvmuup.edu.in पर उपलब्ध लिंक पर आवेदन करना होगा। संभव है कि परीक्षा जुलाई के अंतिम सप्ताह में कराई जाए।

यहाँ से आवेदन करे – Click Here

आजादी के बाद से 2017 तक नर्सिंग और पैरामेडिक्स की अनदेखी की गई। इसके कारण सरकारी मेडिकल कॉलेजों में योग्य नर्सिंग और पैरामेडिक्स स्टाफ की कमी है। राज्य में 35 सरकारी मेडिकल कॉलेज और निजी क्षेत्र में कुल 30 मेडिकल कॉलेज हैं। पैरा मेडिकल स्टाफ खासकर नर्सों की कमी है। राज्य में बड़ी संख्या में नर्सिंग स्टाफ केरल और कर्नाटक से आता है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने नीट की तर्ज पर पूरे राज्य में एक साथ बीएससी नर्सिंग कॉलेजों की एक ही प्रवेश परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है। इससे पहले केजीएमयू अपने स्तर से अलग प्रवेश परीक्षा कराने जा रहा था, जिसे सीएम ने उच्च स्तरीय बैठक के बाद रोक दिया था।

इन नर्सिंग कॉलेजों में दाखिले की पद्धति, पाठ्यक्रम, शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर मुख्यमंत्री को आपत्ति थी. सीएम ने चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार को इसके लिए पूरी प्रक्रिया नए सिरे से तय करने का निर्देश दिया. इसके तहत सभी निजी और सरकारी नर्सिंग कॉलेजों की परीक्षा एक साथ कराने का निर्णय लिया गया है.

हर सरकारी मेडिकल कॉलेज में खुलेंगे नर्सिंग कॉलेज

चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार ने कहा कि योगी सरकार की योजना हर सरकारी मेडिकल कॉलेज में बीएससी नर्सिंग कॉलेज स्थापित करने की है. कार्ययोजना बनाकर इस कार्य में तेजी लाई जाएगी। वर्तमान में सात जिलों प्रयागराज, गोरखपुर, कन्नौज, आगरा, जिम्स ग्रेटर नोएडा, राम मनोहर लोहिया संस्थान, लखनऊ और झांसी में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई के लिए नए नर्सिंग कॉलेज स्वीकृत किए गए हैं। इनमें प्राचार्य और प्रोफेसर सहित 138 पद सृजित व नियुक्त किए गए हैं। इन संस्थानों में हाईटेक लैब और अन्य संसाधन भी उपलब्ध कराए गए हैं।

निजी बीएससी कॉलेजों में भी होगी ग्रेडिंग

  • नैक जैसे निजी बीएससी कॉलेजों की ग्रेडिंग
  • जॉन जुपकिंस यूनिवर्सिटी से ली जाएगी गुणवत्ता बढ़ाने में मदद
  • मानक को पूरा करने वाले निजी बीएससी कॉलेजों का फैसला किया जाएगा ए. बी. सी श्रेणी
  • बी.एससी बायो के साथ इंटर बायोलॉजी छात्र आवेदन कर सकते हैं
  • 2017 तक राज्य में 1972 में केवल एक संस्थान कानपुर में खोला गया था।
  • वर्ष 2013 में तीन जिलों आगरा, झासी और मेरठ को मंजूरी दी गई थी।
  • मेरठ के अलावा किसी भी कॉलेज का संचालन नहीं हो सका।